वित्त वर्ष 2019 में पराग मिल्क फूड्स को 70 करोड़ रुपये का राजस्व

नयीदिल्ली,12जून(भाषा)परागमिल्कफूड्सनेहरियाणाकेसोनीपतस्थितअपनेविनिर्माणकेन्द्रसेपिछलेवित्तवर्षमेंलगभग70करोड़रुपयेकाराजस्वअर्जितकिया।इसेकंपनीनेडैनोनसेहासिलकियाथा।बेहतरमांगकेकारणकंपनीनेअपनेउत्पादोंकेलिएइसउत्तरीभारतकेबाजारसेचालूवित्तवर्षमें160करोड़रुपयेतकराजस्वप्राप्तकरनेकालक्ष्यरखाहै।मुंबईस्थितपरागमिल्कनेपिछलेसालअप्रैलमेंसोनीपतसंयंत्रकाअधिग्रहणकियाथा।उत्तरऔरउत्तर-पश्चिमभारतमेंअपनाविस्तारकरनेकेलिएअगस्तमेंयहांसेअपनावाणिज्यिकपरिचालनशुरूकियाथा।कंपनीकेपासअबमहाराष्ट्र,आंध्रप्रदेशऔरहरियाणामेंतीनसंयंत्रहैं,जिनकीकुलप्रसंस्करणक्षमता29लाखलीटरप्रतिदिनकीहै।परागमिल्कफूड्सकेचेयरमैनदेवेंद्रशाहनेकहा,"हमारासोनीपतकासंयंत्रबहुतअच्छेढंगसेकामकररहाहै।पिछलेवित्तवर्षकेदौरानहमारेकुलकारोबारमेंइसकायोगदान65-70करोड़रुपयेकाथा।हमचालूवित्तवर्षकेदौरान130-160करोड़रुपयेकेराजस्वहासिलकरनेकालक्ष्यरखतेहैं।"परागमिल्ककीपरिचालनसेएकीकृतआयवित्तवर्ष2018-19में22.6प्रतिशतबढ़कर2,395.7करोड़रुपयेरही,जोपिछले2017-18में1,954.5करोड़रुपयेथी।शाहनेकहा,"हममौजूदासमयमेंमहाराष्ट्र,हरियाणाऔरराजस्थानसेदूधप्राप्तकरतेहैं।सोनीपतसंयंत्रमेंप्रतिदिनलगभग60,000लीटरदूधकाप्रसंस्करणकररहेहैं।"उन्होंनेकहाकिकंपनीअगलेवित्तवर्षतकअपनीदूधप्रसंस्करणक्षमताको100प्रतिशतयानीकरीबएकलाखलीटरप्रतिदिनकेप्रसंस्करणस्तरकोहासिलकरनेकीदिशामेंकामकररहीहै।उन्होंनेकहाकिइससंयंत्रकेमाध्यमसेकंपनीदिल्ली-एनसीआरबाजारकोअपनीसेवादेरहीहैजोदेशकासबसेबड़ालगभग11,000करोड़रुपयेकादूधबाजारहै।राष्ट्रीयराजधानीक्षेत्रकेअलावा,यहसंयंत्रहरियाणा,हिमाचलप्रदेशऔरउत्तराखंडकेबाजारोंमेंभीअपनीसेवायेंदेताहै।शाहनेकहाकिकंपनीउत्तरभारतकेबाजारमेंअधिकखुदरा(आधुनिकऔरपारंपरिक)टचप्वाइंटबढ़ाकरवितरणनेटवर्ककोमजबूतकरनेकाप्रयासकररहीहै।परागमिल्कफूड्सनेदिल्ली-एनसीआरकेबाजारमेंअपनाप्रीमियमफ्रेशमिल्कब्रांड'प्राइडऑफकॉज'भीपेशकियाथा।इसकेलिएकंपनीदूधकोअपनेपुणेकेपासस्थितडेयरीफार्मसेहवाईमार्गसेभेजतीहै।शाहनेकहा,"हमनेप्राइडऑफकॉजके600-700ग्राहकदिल्ली-एनसीआरमेंबनाएहैं।"परागमिल्क'गोवर्धन'ब्रांडकेतहतघी,दही,पनीरबेचताहै,जबकिवह‘गो’ब्रांडनामकेतहतपनीर,अल्ट्रा-हाईटेम्प्रेचरप्रोसेसिंग(यूएचटी)दूध,छाछ,लस्सी,दहीजैसेउत्पादबेचतीहै।यहडेयरीआधारितपेयऔरमट्ठाप्रोटीनकीभीपेशकशकरतीहै।