समझना होगा एक-एक वोट का महत्व

सिद्धार्थनगर:लोकसभाचुनावकीचर्चातेजहोगईहै।कचहरीपरिसरमेंभीअधिवक्ताजैसेहीन्यायिककार्यसेफुर्सतपातेहैं,वैसेहीचुनावीचौपाललगजातीहै।यहांलोकतंत्रकोएकपर्वकीतरहमनानेमेंसभीजुटेहैं।बुधवारकोसिविलसिद्धार्थबारएसोसिएशनकेलाइब्रेरीहालमेंचलरहेचुनावीचर्चामेंकईअधिवक्ताओंनेप्रतिभागकिया।

अधिवक्तासनासिद्दीकीनेकहाकिपहलीबारमतदानकरनेकाअवसरप्राप्तहोगा।महिलाओंकोआगेबढ़करमतदानकरनाहोगा।एक-एकमतकामहत्वहै।भ्रष्टाचारसमाप्तकरनेकेलिएईमानदारछविकेप्रत्याशीकोमतदियाजाएगा।अध्यक्षबारएसोसिएशनअखंडप्रतापसिंहनेकहाकिलोकतंत्रकीरक्षाकेलिएप्रत्येकव्यक्तिकोमतदानकरनाचाहिए।यहउसकानैतिकधर्मवकर्तव्यहै।मतदानकरकेराष्ट्रनिर्माणमेंसहयोगकरेंगे।रामउजागिरपांडेयनेकहाकिहमकिसीकेप्रलोभनवदबावमेंनहींआनेवालेहैं।जोहितकीबातकरेगा,उसीकोवोटदियाजाएगा।रियाजअहमदनेकहाकिभारतकीपहचानविश्वकेसबसेबड़ेप्रजातांत्रिकराष्ट्रकेरूपमेंहै।मतदानकरकेइसेबनाएरखनाहै।हमारेदेशकेप्रजातंत्रकोकईदेशउदाहरणस्वरूपलेतेहैं।इसीकापरिणामहैकिनेपालमेंअबप्रजातंत्रआगयाहै।अनिलविश्वकर्मा,बालगोविदश्रीवास्तव,देवानंदश्रीवास्तव,संदीपजायसवाल,रामसूरतयादव,देवेशश्रीवास्तव,राजेशश्रीवास्तव,त्रिपुरारीचौधरी,काशीनाथ,दीपकपांडेय,संपूर्णानंदचौधरीआदिमौजूदरहे।