Budget 2022: उत्तर प्रदेश में बुनियादी ढांचे को रफ्तार देगा बजट, इन परियोजनाओं को लगेंगे पंख

लखनऊ[राज्यब्यूरो]।केंद्रसरकारकाबजटउत्तरप्रदेशमेंबुनियादीढांचेकेसंजालकोबढ़ानेकेसाथउसेरफ्तारभीदेगा।सड़क,सिंचाई,आवासऔरपाइप्डपेयजलआपूर्तिकेलिएबजटमेंजोऐलानहुएहैं,उसकाबड़ाहिस्साउत्तरप्रदेशकेखातेमेंआएगा।वहींरक्षाक्षेत्रमेंआत्मनिर्भरबननेकीललककेसाथघरेलूउद्योगोंकोबढ़ावादेनेकीचाहतप्रदेशमेंडिफेंसकारिडोरपरियोजनाकोपंखलगाएगी।

सड़कोंकेनिर्माणमेंआएगीतेजी:केंद्रीयवित्तमंत्रीनिर्मलासीतारमणनेबजटमेंवर्ष2022-23में25000किलोमीटरकीलंबाईमेंनेशनलहाईवेबनानेकाजोऐलानकियाहै,उत्तरप्रदेशकोउसकालाभमिलनातयहै।अगलेवित्तीयवर्षमेंनेशनलहाइवेप्रोजेक्टकेतहतकेंद्रसरकारकीओरसेउत्तरप्रदेशमें16,350करोड़रुपयेखर्चकियाजानाअनुमानितहै।प्रोजेक्टकेतहतमार्च2023सेपहलेजिनप्रमुखसड़कपरियोजनाओंकाकामशुरूहोनाहै,उनमेंकानपुर-लखनऊएक्सप्रेसवे(63किमी),वाराणसी-कोलकाताएक्सप्रेसवे(642किमी),गोरखपुर-सिलीगुुड़ीकारिडोर(520किमी)औरसोनौलीवगोरखपुरकेबीच80किमीकीलंबाईमेंइंटरनेशनलकनेक्टिविटीशामिलहै।वर्ष2022-23केअंततकप्रदेशमें46,627करोड़रुपयेकीलागतसे1533किलोमीटरकीलंबाईमेंसड़कपरियोजनाओंकाकामशुरूहोनाहै।

सिंचाईक्षमताकेसाथबढ़ेगीपाइप्डपेयजलआपूर्ति:बजटमेंकेन-बेतवालिंकप्रोजेकटकेलिए2022-23में1400करोड़रुपयेकाआवंटनकियागयाहै।यहपरियोजनाबुंदेलखंडमेंसिंचाईक्षमताकोबढ़ानेकेसाथपेयजलआपूर्तिकेलिहाजसेभीमहत्वपूर्णहै।हरघरजलमिशनकेतहतअगलेवित्तीयवर्षकेदौरान3.8करोड़परिवारोंतकपाइप्डपेयजलपहुंचानेकासंकल्पभीबड़ीआबादीवालेउत्तरप्रदेशकेलिएवरदानसाबितहोगा।जलजीवनमिशनकेतहतअगलेवित्तीयवर्षमें12000करोड़रुपयेकाखर्चअनुमानितहै।केंद्रसरकारकेजलसंसाधनमंत्रालयकीविभिन्नयोजनाओंकेतहतअगलेवित्तीयवर्षमें957करोड़रुपयेकाखर्चअनुमानितहै।इनमेंनमामिगंगेपरियोजनाकेलिए500करोड़रुपये,अटलभूजलयोजनाकेलिए170करोड़रुपयेतथाएक्सीलरेटेडइरिगेशनबेनेफिट्सप्रोग्रामएंडकमांडएरियाडेवलपमेंटकेलिए194करोड़रुपयेशामिलहै।

साकारहोगासरपरछतकासपना:प्रधानमंत्रीआवासयोजनामेंउत्तरप्रदेशनेरिकार्डबनायाहै।योजनाकेतहतअगलेवर्षपूरेदेशमें80लाखमकानबनानेकालक्ष्यतयकियागयाहै।निश्चिततौरपरउत्तरप्रदेशइसयोजनाकासबसेबड़ालाभार्थीहोगा।स्वच्छभारतमिशन(ग्रामीण)केतहत2022-23में1900करोड़रुपयेमिलेंगे।

कार्गोटर्मिनलबढ़ाएंगेनिर्यातकीसंभावनाएं:केंद्रसरकारनेबजटमें100पीएमगतिशक्तिकार्गोटर्मिनलकीस्थापनाकीघोषणाभीकीहै।इनमेंसेकुछउत्तरप्रदेशमेंभीबनाएजाएंगे।प्रदेशसेगुजरनेवालेडेडिकेटेडफ्रेटकारिडोरऔरचारोंओरजमीनसेघिरेउत्तरप्रदेशकीविशिष्टभौगोलिकस्थितिकेदृष्टिगतकार्गोटर्मिनलकीस्थापनाप्रदेशमेंनिर्यातकीसंभावनाएंबढ़ाएगी।

जैविकखेतीकोबढ़ावा:गंगाकेकिनारेपांचकिलोमीटरकेदायरेमेंजैविकखेतीकोबढ़ावादेनेकीघोषणाकासर्वाधिकलाभभीउत्तरप्रदेशकोमिलेगा।

यहभीपढ़ें: आर्थिकमोर्चेपरराहतसेसरकारअबकरासकेगीज्यादाविकास,यूपीकोकेंद्रीयकरोंमेंज्यादाहिस्सेदारी